Difference between AC and DC in Hindi

The Main Difference Between AC and DC is direction of Electron Flowing. In DC Electron Flow in Straight Direction, While In AC Electrons Changes Its Position to positive to negative Cycle Constantly. डीसी में इलेक्ट्रॉन एक दिशा में स्थिर तरीके से प्रवाहित होते हैं जबकि एसी में वे लगातार अपनी दिशा बदलते रहते हैं। Circuit Diagram Of AC and DC

प्रत्यावर्ती धारा (Alternating Current):

विद्युत आवेश का प्रवाह जो समय-समय पर विपरीत होता है।यह शून्य से शुरू होता है, अधिकतम तक बढ़ता है और शून्य तक घट जाता है, फिर विपरीत दिशा में अधिकतम तक पहुंच जाता है और फिर से मूल मूल्य पर लौट आता है, और इस चक्र को अनिश्चित काल तक दोहराता है।दो क्रमागत चक्रों पर एक निश्चित मान की प्राप्ति के बीच के समय के अंतराल को आवर्त (period )कहते हैं , प्रति सेकंड चक्र या अवधि की संख्या आवृत्ति (frequency) है, और किसी भी दिशा में अधिकतम मान प्रत्यावर्ती धारा का आयाम (Amplitude )है.

50 /60 hz फ्रीक्वेंसी को घरेलु और व्यावसायिक कामो में इस्तेमाल करते है।लेकिन लगभग 100,000,000hz (100 मेगाहर्ट्ज़) की आवृत्ति की प्रत्यावर्ती धाराएं टेलीविजन में और कई हज़ार मेगाहर्ट्ज़ की आवृत्तियां रडार या माइक्रोवेव संचार में उपयोग की जाती हैं।सेल्युलर टेलीफोन लगभग 1,000 मेगाहर्ट्ज़ (1 गीगाहर्ट्ज़) की आवृत्ति पर काम करते हैं।

दृस्ट धारा (direct current )

विद्युत आवेश (electric charge) का प्रवाह जो दिशा नहीं बदलता।दिष्ट धारा का परिमाण सदैव स्थिर रहता है तथा धारा की आवृत्ति शून्य होती है.
दृस्ट धारा (direct current ) बैटरी, फ्यूल सेल, रेक्टिफायर और कम्यूटेटर के साथ जेनरेटर द्वारा निर्मित होता है। डायरेक्ट करंट को HVDC के transmission के लिए इस्तेमाल करते है।
Types of current

Difference between AC and DC in Hindi

Direct Current (DC) Alternating Current (AC)
DC (Direct Current ) को हम कहते है दृस्ट धारा।
AC (Alternating Current) को हम कहते है प्रत्यावर्ती धारा।
DC करंट को थॉमस एडिसन ने खोजा था।
AC करंट को निकोला टेस्ला ने खोजा था।
DC करंट एक लाइन में हाई स्पीड ट्रेवल करता है
AC करंट + - होते हुई ट्रेवल करता है
DC करंट AC करंट से ज्यादा घातक होता है।
AC करंट कम घातक होता है।
DC करंट कम दुरी तय करने में समर्थ होता है।
AC करंट अधिक दूरी तय कर सकता है।
DC करंट में कम एनर्जी लोस्स होता है।
AC करंट में DC मुकाबले ज्यादा एनर्जी लॉस होता है।
DC करंट हम बैटरी में स्टोर कर सकते है
AC करंट स्टोर नहीं कर सकते
DC पावरफुल होता है
AC Sinusoidal वेव्स के बजेसे थोड़ा काम पावरफुल होता होता
DC में frequency =0 होती है क्युकी वो एक सरल रेशा में ट्रेवल करता है
AC में frequency =५० /६० होती है सोइनोसॉइडल वेव्स के बजेसे

AC को dc में बदलने के लिए दृस्तकारी (rectifier ) इस्तेमाल करते है

DC को AC में convert करने के लिए inverter इस्तेमाल करते है
AC में पावर फैक्टर (power factor ) ये हमेशा ० से १ तक रहता है
DC में पावर फैक्टर (pf ) हमेशा १ ही रहता है
AC में Phase और neutral रहता है
DC में Positive और Negative रहता है
AC की वैल्यू कम या ज्यादा कर सकते है। स्टेप उप या स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर मदद से
DC की वैल्यू ट्रांसफार्मर की मदद से कम या ज्यादा नहीं कर सकते
AC सिंगल फेज या थ्री फेज हो सकती है
DC हमेशा सिंगल फेज ही रहती है
इंडक्टर AC को ब्लॉक कर सकता है
DC को inductor ब्लॉक नहीं कर सकता
AC पर संधारित्र (capacitor ) कम प्रतिक्रिया देता है
कैपेसिटर DC पर उच्च प्रतिक्रिया देता है
प्रतिबाधा(impedance ) और प्रतिरोध (resistance )का प्रभाव, AC में संभव है
प्रतिरोध (Resistance ) का प्रभाव केवल DC में संभव है
AC में Current और Voltage के बिच में angle बनता है
DC में कोई एंगल नहीं बनता
Heating AC में कम होती है
DC में ज्यादा heating होती है

FAQ’s

  1. २२० volt का AC और DC, इनमे से कोनसा करंट इंसान को ज्यादा हानि पंहुचा सकता है?
    = २२० volt का Direct Current ज्यादा हानि कर सकता है AC के मुकाबले।क्युकी DC एक ही पोलेरिटी में हाई स्पीड ट्रेवल करता है।
  2. इंडियन रेलवे इंजन कोनसे करंट पर चलते है AC or DC ?
    =रेलवे के ओवरहेड वायर में AC करंट दौड़ता है। वो करंट Pentagraph के मदद से इंजन तक AC स्वरुप में आता है उसके बाद rectifier के मदद से वो करंट डायरेक्ट करंट में ट्रांसफर करते है।
  3. मोबाइल चार्जिंग करने के लिए कोनसा करंट इस्तेमाल होता है ?AC or DC
    =मोबाइल चार्जर एक रेक्टिफिएर रहता है रहता है,जो घर के AC करंट को DC में ट्रांसफर करता है।